daily news update: hindi news

daily news update: पढे आज की ताजा खबर विदेशी कंपनियों , पिछले 11 दिनों में 16 आतंकी ढेर , जेपी नड्डा ने दिए निर्देश , crpf जवान को मिली जमानत, से सम्बंधित जानकारी को संक्षिप्त रूप में प्रस्तुत किया गया है

आज की ताजा खबर:चीन छोड़ रहीं विदेशी कंपनियों को भारत में लाने की तैयारी: (daily news update)

daily news update: hindi news
daily news update

daily news update:चीन से निकलने की इच्छुक दूसरे देशों की खासकर जापान और अमेरिका की कंपनियों को हर हाल में भारत में लाने की कोशिश में सरकार जुट गई है। इस काम में आगे आने के लिए केंद्र सरकार राज्य सरकारों को तैयार कर रही है।

मुख्यमंत्रियों से चर्चा के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा था कि कोरोना काल में भारत मैन्यूफैक्चरिंग में चीन का विकल्प बन सकता है। अगर राज्य अपने यहां पर्याप्त इंफ्रास्ट्रक्चर का इंतजाम कर लें तो चीन में काम कर रही विदेशी कंपनियों को भारत में निवेश के लिए लाया जा सकता है। भारत में पहले से ही पर्याप्त श्रमिक हैं। ये विदेशी कंपनियां चीन और अमेरिका के बीच चलने वाले ट्रेड वार और अब चीन में कोरोना फैलने के कारण उपजी अनिश्चितता की वजह से चीन से बाहर निकलना चाहती हैं।

केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने राज्यों को दिया अवसर के संकेत

मंगलवार को केंद्रीय इलेक्ट्रॉनिक्स व आइटी मंत्री रवि शंकर प्रसाद ने भी राज्यों के आइटी मंत्रियों से कहा कि अभी जो चीन के हालात हैं, उसका फायदा भारत को मिलने जा रहा है। ऐसे में, राज्यों को इलेक्ट्रॉनिक्स मैन्यूफैक्चरिंग की तैयारी शुरू कर देनी चाहिए। केंद्र सरकार इलेक्ट्रॉनिक्स मैन्यूफैक्चरिंग के लिए पहले ही इंसेंटिव की घोषणा कर चुकी है।

उन्होंने राज्यों के मंत्रियों से कहा कि अभी भारत को इलेक्ट्रॉनिक्स मैन्यूफैक्चरिंग के अवसर को भुनाने की जरूरत है क्योंकि कोविड-19 के बाद कई कंपनियां चीन से बाहर निकलना चाहती हैं। चीन में काम कर रही विदेशी कंपनियों को अपने यहां लाने के लिए उत्तर प्रदेश और गुजरात सरकार पहले से ही तैयारी में जुटी हुई है।

 शोपियां में सुरक्षा बलों ने एक आतंकी को मार गिराया, पिछले 11 दिनों में 16 आतंकी ढेर

जम्मू-कश्मीर के शोपियां में मंगलवार को सेना के जवानों ने एक आतंकी को मार गिराया। आधिकारिक सूत्रों के मुताबिक, शोपियां के जैनपोरा इलाके में आतंकियों के छुपे होने की सूचना मिली थी। इसके बाद सेना और केंद्रीय रिज़र्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) ने सर्च ऑपरेशन शुरू किया। इस दौरान आतंकवादियों ने गोलीबारी शुरू कर दी। जवानों की ओर से की गई जवाबी कार्रवाई में एक आतंकी मारा गया। मुठभेड़ अभी भी जारी है।कश्मीर में पिछले 11 दिनों में सुरक्षा बल और आतंकियों के बीच अलग-अलग जगहों पर मुठभेड़ हुई है।

इसमें में अबतक 15 आतंकी मारे जा चुके हैं और एक को गिरफ्तार भी किया गया है। इस दौरान तीन जवान शहीद और दो घायल हुए हैं।

पिछले तीन दिन में तीसरी मुठभेड़ (daily news update)

पिछले तीन दिन में आतंकियों के साथ सुरक्षाबलों की यह तीसरी मुठभेड़ है। सोमवार को श्रीनगर-जम्मू राष्ट्रीय राजमार्ग पर काजीगुंड में सुरक्षा बलों के साथ आतंकियों की मुठभेड़ हुई थी। सेना के गश्ती दल पर आतंकवादियों ने गोलीबारी की थी। जवाबी कार्रवाई में तीन आतंकवादी मारे गए थे। रविवार को दक्षिण कश्मीर के कुलगाम जिले के अस्थाल इलाके में मुठभेड़ हुई थी। इसमें एक आतंकी मारा गया था। यह जम्मू-कश्मीर पुलिस में एएसआई का बेटा था और पंजाब से एमटेक की पढ़ाई कर रहा था।

जेपी नड्डा ने दिए निर्देश, देवरिया से विवादित बोल वाले भाजपा विधायक पर हो सख्त कार्रवाई

विवादित बयान देकर सांप्रदायिकता फैलाने वाले उत्तर प्रदेश के भाजपा विधायक सुरेश तिवारी के खिलाफ सख्त कार्रवाई होगी। पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने उत्तर प्रदेश भाजपा प्रमुख को निर्देश दिया है कि तिवारी को दंडित किया जाए। वह देवरिया से विधायक हैं।गौरतलब है कि तिवारी ने अपने क्षेत्र को लोगों को कहा था कि एक खास संप्रदाय के लोगों से सब्जी न लें। विवाद में आने के बावजूद वह अपने बयान पर डटे थे और कहते देखे गए थे कि उन्होंने कुछ गलत नहीं किया है। लोगों को कोरोना से बचने के लिए उपाय बताया है।

सूत्रों के अनुसार नड्डा ने इस पर नाराजगी जताते हुए प्रदेश अध्यक्ष को निर्देश दिया है। उसके बाद पार्टी की ओर से तिवारी को कारण बताओ नोटिस भी जारी हुआ है। बताते हैं कि सख्त कार्रवाई हो सकती है। दरअसल जमात वाली घटना के बाद से ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और खुद नड्डा की ओर से बार बार यह नसीहत दी जा रही है कि कोरोना के खिलाफ एकजुट लड़ाई लड़नी है। लेकिन कुछ नेता नहीं मान रहे हैं।

कांग्रेस का दावा, मोदी सरकार ने नीरव-चोकसी जैसे 50 घोटालेबाजों का कर्ज माफ किया (daily news update)

कांग्रेस का दावा है कि 14 अप्रैल को एक आरटीआई के जवाब में भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) ने देश के 50 सबसे बड़े बैंक घोटाला करने वाले लोगों का 68,607 करोड़ रुपये माफ करने की बात स्वीकार की है। इस सूची में भगोड़े हीरा कारोबारी नीरव मोदी और मेहुल चोकसी जैसों के नाम भी शामिल हैं।

वहीं, पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने भी इस मामले में केंद्र सरकार को निशाने पर लिया है। राहुल ने कहा कि कुछ सप्ताह पहले संसद में उनके सवाल का जवाब न देकर इसी सच को छिपाया गया था। उन्होंने ट्वीट किया, ‘संसद में मैंने एक सीधा सा प्रश्न पूछा था- मुझे देश के 50 सबसे बड़े बैंक चोरों के नाम बताइए। वित्त मंत्री ने जवाब नहीं दिया।’  

उन्होंने दावा किया कि अब रिजर्व बैंक ने नीरव मोदी, मेहुल चोकसी सहित भाजपा के ‘मित्रों’ के नाम बैंक चोरों की लिस्ट में डाले हैं। इसीलिए संसद में इस सच को छिपाया गया।’ गौरतलब है कि संसद के बजट सत्र के दौरान राहुल गांधी ने कर्ज अदा नहीं करने वाले 50 सबसे बड़े चूककर्ताओं के नाम पूछे थे। इस पर सरकार ने कहा था कि केंद्रीय सूचना आयोग (सीआईसी) की वेबसाइट पर सारे नाम दिए जाते हैं और ये नाम वेबसाइट पर उपलब्ध हैं।

कर्नाटकः लॉकडाउन तोड़ने के आरोप में गिरफ्तार सीआरपीएफ के जवान को मिली जमानत

कर्नाटक में केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) के जवान को कोविड-19 का संक्रमण फैलने से रोकने के लिए लागू लॉकडाउन के नियम तोड़ने के आरोप में गिरफ्तार किया गया था। वहीं अर्द्धसैनिक बल ने उसके जवान के साथ की गई कथित बदसलूकी पर कड़ी आपत्ति जताई है, जिसके बाद पुलिस ने जांच के आदेश दिए हैं।

प्रदेश के पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) प्रवीण सूद ने घटना की जांच के आदेश दिए हैं। इस घटना का एक वीडियो वायरल हो गया है जिससे विवाद पैदा हो गया है। क्लिप में, कुछ पुलिस कांस्टेबलों को सीआरपीएफ के जवान सचिन सावंत को बेलगावी में कथित तौर पर लाठियों से मारते हुए देखा जा सकता है।

सोशल मीडिया पर साझा की गई सूचना के मुताबिक, सावंत अपनी बाइक धो रहे थे तभी पुलिस की एक टीम मौके पर पहुंची और लॉकडाउन के दौरान मास्क न पहनने की वजह से उनकी पिटाई शुरू कर दी। अपने कोबरा कमांडो के साथ की गई बदसलूकी का कड़ा संज्ञान लेते हुए, सीआरपीएफ ने कर्नाटक पुलिस को पत्र लिखकर मामले की जांच की मांग की है।

लॉकडाउन तोड़ने के आरोप में गिरफ्तार

कर्नाटक के डीजीपी को लिखे पत्र में सीआरपीएफ के अतिरिक्त महानिदेशक संजय अरोड़ा ने कहा कि सावंत अपनी बाइक धो रहे थे जब उनके और पुलिस के बीच मास्क न पहनने को लेकर झड़प हुई। अरोड़ा ने लिखा, सावंत की उनके परिवार के सदस्यों के सामने पिटाई की गई और अभद्र व्यवहार किया गया और फिर उन्हें नंगे पैर थाने ले जाया गया जहां उन्हें हथकड़ी लगाई गई और जंजीरों से बांधा गया।

जब कांस्टेबलों ने सावंत से सवाल किया कि वह जिले में लागू सीआरपीसी की धारा 144 का उल्लंघन क्यों कर रहे हैं तो उन्होंने कहा कि वह भी एक पुलिसकर्मी हैं। निम्बार्गी ने बताया कि गश्ती दल ने उनसे नियमों का पालन करने को कहा। उन्होंने आरोप लगाया कि इस पर सावंत गुस्सा हो गया, उसने एक कांस्टेबल का गिरेबान पकड़ा और उसे घूंसा मार दिया।

भारत देश की ताज़ा खबरें

मार्क जुकरबर्ग की मदद के बदौलत मुकेश अंबानी फिर बने एशिया के सबसे अमीर बिजनेसमैन, जैक मा को पीछे छोड़ा

Total Views: 137 ,

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: